पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के नेता अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन, रविवार को निगमबोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा ।

नरेंद्र मोदी सरकार में वित्त मंत्री रहे वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण जेटली का शनिवार को निधन हो गया,वो 66 साल के थे। किडनी ट्रांसप्लांट करवा चुके जेटली को कैंसर हो गया था । उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था । पिछले दिनों राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह समेत कई नेताओं ने अस्पताल पहुंचकर उनका हालचाल जाना था ।

  • जेटली 9 अगस्त से एम्स में भर्ती थे , उन्होंने शनिवार दोपहर 12 बजकर 7 मिनट पर अंतिम सांस ली
  • जेटली का सॉफ्ट टिश्यू कैंसर का इलाज चल रहा था , इसके लिए वे जनवरी में न्यूयॉर्क भी गए थे
  • यूएई में मौजूद प्रधानमंत्री मोदी ने जेटली की पत्नी और बेटे से फोन पर बात की , जेटली के परिवार ने उनसे विदेश दौरा रद्द नहीं करने को कहा
  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा – जेटली बेहतरीन वकील ,परिपक्व सांसद और उत्कृष्ट मंत्री थे।
  • गृह मंत्री अमित शाह ने कहा – मैंने परिवार का अभिन्न सदस्य खो दिया

मोदी फिलहाल यूएई में हैं । उन्होंने जेटली की पत्नी और बेटे से फोन पर बात की । दोनों ने मोदी से अपना विदेश दौरा रद्द न करने की अपील की । मोदी को यूएई के बहरीन भी जाना है ।

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा रविवार सुबह 10 बजे तक जेटली का पार्थिव शरीर पर रहेगा । इसके बाद पार्थिव देह को पार्टी कार्यालय रखा जाएगा । दोपहर बाद निगमबोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा ।

अरुण जेटली ने अंतिम समय में इन लोगों को किया

याद पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आखिरी बार 6 अगस्त को श्री रामचरितमानस के रचयिता और महान संत तुलसीदास की जयंती पर उनको नमन किया था । सुषमा स्वराज के निधन पर भी जेटली ने सोशल साइट्स के जरिए ही अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की थी । बीते 6 अगस्त को 3 बजकर 14 मिनट पर जेटली ने अपने फेसबुक पेज पर संसद के सफल सत्र पर लंबा ब्लॉग लिखा था । इसमें उन्होंने पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को धन्यवाद किया था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *