एलएसी की दुर्गम पहाड़ियों में दुश्मनों पर पैनी नजर रखेगा भारत ड्रोन, जानें क्या है इसकी खासियत

भारत चीन तनाव के बीच डीआरडीओ ने एक उच्च क्वालिटी का ड्रोन विकसित किया है। इस ड्रोन का नाम भारत रखा गया है। पूर्वी लद्दाख के वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के ऊंचाई वाले क्षेत्रों और पहाड़ी इलाकों में सटीक निगरानी रखने के लिए भारत नाम का अपना स्वदेशी ड्रोन बनाया गया है। भारत ड्रोन को इंडियन आर्मी को सौंप दिया गया है।

समाचार एजेंसी के रक्षा सूत्रों के अनुसार ‘भारतीय सेना को पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में चल रहे विवाद में सटीक निगरानी के लिए ड्रोन की आवश्यकता है। इस आवश्यकता के लिए डीआरडीओ ने सेना को भारत ड्रोन प्रदान किया है।’

भारत ड्रोन को डीआरडीओ के चंडीगढ़ स्थित प्रयोगशाला में तैयार किया गया है। इस ड्रोन को विश्व के सबसे चुस्त और हल्के निगरानी ड्रोन के रूप में सूचीबद्ध किया जा सकता है। इस ड्रोन की सबसे खास बात यह है कि ये देश में ही डीआरडीओ द्वारा विकसित किया गया है।

एआइ सिस्टम से लैस है यह ड्रोन

DRDO के सूत्रों ने कहा, “छोटे अभी तक शक्तिशाली ड्रोन बड़ी सटीकता के साथ किसी भी स्थान पर स्वायत्तता से काम करता है। आगे आने वाली तकनीक के साथ यूनिबॉडी बायोमिमेटिक डिजाइन निगरानी मिशनों के लिए एक घातक संयोजन है”। ड्रोन दुश्मनों का पता लगाने के लिए आर्टीफिसियल इंटेलीजेंस सिस्टम (AI) से लैस है और ऑटोमेटिक कार्रवाई कर सकता है। यह ड्रोन अत्यधिक ठंडे मौसम के तापमान में भी काम करने में सक्षम बनाया गया है। यह और भी ज्यादा खराब मौसम में काम करता रहे इसके लिए ये अभी इस पर काम किया जा रहा है।

अपने मिसन के दौरान रियल टाइम का वीडियो करता है प्रसारित

इस ड्रोन की सबसे खास बात यह है कि अपने मिसन के दौरान यह ड्रोन रियल टाइम का वीडियो प्रसारित करता है। रात के अंधेरे में भी यह दिन के जैसा काम करता है घने जंगल व दुर्गम क्षेत्रों में छिपे दुश्मनों को आसानी से पता लगाकर उसका वीडियो बनाने में सक्षम है। रक्षा सूत्रों ने कहा कि यह भारतीय सेना के ऑपरेशन के लिए बहुत ही कारगर है, क्योंकि यह एक टीम संचालन में बेहतरीन काम कर सकता है। इस ड्रोन को इस तरह बनाया गया है कि जिसे रडार भी नहीं पकड़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *